Breaking News
Home / इंदौर / पंडरीनाथ क्षेत्र में हुई हत्या, क्या लाला गैंग के रसूख का नया पर्याय बनी।

पंडरीनाथ क्षेत्र में हुई हत्या, क्या लाला गैंग के रसूख का नया पर्याय बनी।

कुख्यात गुंडे सलमान लाला के भाई रिजवान लाला के पास कैसे पहुंचा हथियार। पुलिस की कांबिंग गश्त के बावजूद बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम।

इंदौर। शहर में पुलिस कानून व्यवस्था को लेकर लाख दावे करें लेकिन उन दावों की पोल खोलती है पंडरीनाथ थाना क्षेत्र के कबूतर खाने में हुई हत्या। जहां योजनाबद्ध तरीके से 6 से ज्यादा आरोपियों ने मिलकर एक बेगुनाह को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया। यह नहीं आरोपियों ने क्षेत्र में जमकर तोड़फोड़ कर हवाई फायर कर लोगों में डर बिठाने का पूरा प्रयास किया। सवाल यह उठता है की कुख्यात गुंडे सलमान लाला के भाई रिजवान लाल तक पुलिस पहले क्यों नहीं पहुंच पाई।

दरअसल शहर के पंडरीनाथ थाना क्षेत्र में रविवार को क्रिकेट खेलने की बात पर हुए विवाद में 6 से ज्यादा गुंडो ने मिलकर एक बेगुनाह को मौत के घाट उतार दिया। दरअसल शानू उर्फ रियाज अब्बासी निवासी कबूतर खाना तथा मोहम्मद यूसुफ पिता अब्दुल निवासी कबूतर खाना से हुए विवाद के बाद आरोपियों द्वारा एकमत होकर पहले युसूफ पर हमला किया गया। उक्त मामले की रिपोर्ट करने जब पीड़ित पक्ष थाने पहुंचा तो आरोपियों ने क्षेत्र में कोहराम मचा दिया। घटना में शामिल रिजवान लाल कुख्यात गुंडे सलीम लाल का भाई है तथा उस पर भी कई अपराधी प्रकरण दर्ज होना बताया जा रहे है। घटना के दौरान रिजवान लाल ने क्षेत्र में कई हवाई फायर भी किए और लोगों में दहशत बनाने की पूरी कोशिश की। उक्त घटना में पुलिस ने गोल, रिजवान, इमरान, गुलाम नबी, गुलाम रसूल , फिरोज, बादशाह ,साहिल और आबिद के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। दरअसल घटना दिनांक को नासिर अब्बासी के घर के अंदर तथा दुकान के बाहर घुसकर उक्त हत्याकांड को अंजाम दिया गया तथा उनके घर में तोड़फोड़ कर हवाई फायर भी हुए।

कुख्यात गुंडे रिजवान लाल के पास कहां से पहुंची रिवाल्वर पुलिस ने पहले क्यों नहीं की चेकिंग।

दरअसल बदमाशों पर अंकुश लगाने के लिए वैसे तो पुलिस लगातार बदमाशों की धरपकड़ कर रही है तथा उनके पास से चाकू तथा अन्य हथियार जप्त भी कर रही है, लेकिन हैरत की बात है कि सलमान लाला के भाई रिजवान लाल जो कि कुख्यात पेशावर बदमाश बताया जा रहा है। उक्त बदमाश के गिरेबाह तक पुलिस के हाथ पहले क्यों नहीं पहुंचे और पुलिस ने क्यों घटना के पहले उक्त लिस्टेड बदमाश के घर की तलाशी नहीं ली। सवाल यह भी उठता है कि रिजवान लाल के पास रिवाल्वर कहां से आई।

पुलिस की कांबिंग गश्त के बाद भी हुई घटना ।

दरअसल सारे बाजार हुई हत्या की घटना कानून व्यवस्था पर इसलिए भी सवाल खड़े करती है कि कुछ घंटे पूर्व ही पुलिस ने क्षेत्र में कांबिंग गस्त की थी । ताकि क्षेत्र के अपराधियों में कानून का खौफ बना रहे ।जिसको दरकिनार करते हुए आरोपियों ने बेखौफ ना सिर्फ आतंक मचाया, तोड़फोड़ की। बल्कि एक मासूम की सरेराह चाकू गोदकर हत्या कर दी। एक अन्य पर भी प्राण घातक हमला किया जो अपने आप में पुलिस की व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े करता है। सवाल यह भी उठता है कि क्या कहीं सलमान लाला गैंग एक बार फिर क्षेत्र में पैर तो नहीं पसार रहा, जिसको लेकर उक्त घटना लोगों में दहशत बनाने के लिए अंजाम दी गई।

पुलिस चौकिया निर्धारित फिर भी पुलिस नदारद।

दरअसल घटना पुलिस चौकी से 50 मीटर की दूरी पर हुई । उस वक्त पुलिस चौकी पर कोई जवान मौजूद नहीं था जो बताता है कि पुलिस की कथनी और करनी में फर्क है ।शहर के लोग अमन चैन से रहे इसके लिए पुलिस आए दिन कांबिंग गस्त कर लोगों को और अफसर को दिखाने में लगी है, लेकिन रोजाना होने वाली लूट जानलेवे हमले तथा हत्या की घटना साफ बता रही है कि बदमाश बेखौफ है और वह खुलेआम सारे बाजार घटना को न सिर्फ अंजाम दे रहे हैं। बल्कि हवाई फायर कर क्षेत्र में दहशत भी फैला रहे हैं।

About Aditya Singh

Check Also

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत, 2 जून तक करना होगा केजरीवाल को सरेंडर ।

दिल्ली । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आखिरकार सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई । …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *